November 12, 2015

Lyrics

दिल तड़प तड़प के कह रहा है
आ भी जा
तू हमसे आँख ना चुरा,
तुझे कसम है आ भी जा
दिल तड़प तड़प के कह रहा है
आ भी जा
तू हमसे आँख ना चुरा,
तुझे कसम है आ भी जा
तू नहीं तो ये बहार क्या बहार है
गुल नहीं खिले के तेरा इंतजार है
दिल धड़क धड़क के दे रहा है ये सदा
तुम्हारी हो चुकी हूँ मैं, तुम्हारे पास हूँ सदा
तुमसे मेरी जिंदगी का ये सिंगार है
जी रही हूँ मैं के मुझको तुमसे प्यार है
मुस्कुराते प्यार का असर है हर कही
हम कहा हैं दिल किधर है कुछ खबर नही

Show moreShow less